रावण रचित शिव तांडव स्तोत्र लिरिक्स और अर्थ

रावण रचित शिव तांडव स्तोत्र लिरिक्स और अर्थ

रावण रचित शिव तांडव स्तोत्र सनातन हिन्दू धर्म का एक महान आराधनात्मक ग्रंथ है। इसमें शिव भगवान के महादंडव (तांडव) नृत्य की प्रशंसा की गई है। यह मन्त्र श्रीरामायण के महाकाव्य में उल्लेखित है और इसका ग्रंथिकार महान राक्षस राजा रावण माना जाता है। इस ब्लॉग पोस्ट में, हम रावण रचित शिव तांडव स्तोत्र के […]

रावण रचित शिव तांडव स्तोत्र लिरिक्स और अर्थ Read More »